हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने एक बड़ी करवाई करते हुए पुणे के रुपया सहकारी बैंक का लाइसेंस कैंसिल कर दिया है

ऐसा इसलिए क्योकि इस को ऑपरेटिव  बैंक के पास पर्याप्त पूंजी नही है

 कमी की संभावनाए नही है और साथ ही इसने नियमो का भी उल्लंघन किया है t

ये बैंक अगले महीनो 22 सितम्बर से अस्तित्व में भी नही रहेगा

सहकारी बैंको का गठन और परिचालन सहकारीता  के आधार पर किया जाता है सहकारी यानि साथ मिल कर कम करना

को - ऑपरेटीव बैंको की स्थापना राज्य सहकारी समीति अधिनियम के मुताबिक की जाती है इनका रजिस्ट्रेशन रजिस्ट्रार  ऑफ़ को ऑपरेटिव

सहकारी बैंको का गठन ही सहकारिता के आधार  पर किया जाता है लेकिन एक आकड़े के मुताविक ग्रामीण क्षेत्र के करीब 55  फीसदी लोग अभी तक इस सहकारिता व्ववस्था से नही जुड़ पाए है